वेतनमान पर पुलिसकर्मियों में असमंजस देख मोर्चा संभालने आगे आए आईजी संजय गुंज्याल, पुलिसकर्मियों से संयम और धैर्य रखने की अपील, देखें वीडियो

हरिद्वार/ तुषार गुप्ता

हरिद्वार। जबरदस्त अनुशासन वाली अपनी छवि के विपरीत कुछ साल पहले मिशन आक्रोश जैसे अप्रत्याशित दौर भी देख चुकी उत्तराखंड पुलिस के सिपाहियों में एक बार फिर अपने वेतनमान के निर्धारण को लेकर असमंजस की चर्चाएं हो रही हैं। पुलिसकर्मी पूर्व में दिया जाने वाला वेतनमान फिर से लागू करने की मांग कर रहे हैं लेकिन सरकार की आर्थिक स्थिति के मद्देनजर फिलहाल इस बारे में अंतिम निर्णय नहीं हो सका है। ऐसे में नकारात्मक सोच वाले कुछ लोग कहीं पुलिसकर्मियों को भड़का कर उनकी भावनाओं का गलत इस्तेमाल न कर लें इन आशंकाओं ने प्रदेश के पुलिस मुख्यालय के अधिकारियों को भी सोचने के लिए मजबूर कर दिया है। सभी परिस्थितियों को भांपते हुए प्रदेश के बहुत ही सूझबूझ और त्वरित निर्णय लेने में अग्रणी माने जाने वाले आईजी संजय गुंज्याल मोर्चा संभालने के लिए आगे आए हैं ।

हाल ही में आईजी कुंभ के रूप में कुंभ मेले को सकुशल और सुरक्षित संपन्न कराने का सराहनीय काम कर चुके आईजी संजय गुंज्याल ने एक वीडियो संदेश जारी कर सभी पुलिसकर्मियों से धैर्य और अनुशासन बनाए रखने की अपील की है। आईजी संजय गुंज्याल ने कहा कि उन्होंने कुंभ मेले के दौरान कोरोना जैसी विपरीत परिस्थितियों में भी पुलिसकर्मियों की कर्तव्यनिष्ठा और समर्पण भावना से काम करने की ललक को बेहद नजदीक से देखा। उनके इस समर्पण भाव से ही एक लंबे अंतराल के बाद कुंभ जैसा महा आयोजन कोरोना जैसी विपरीत परिस्थितियों में सकुशल और सुरक्षित संपन्न हो सका।

 उन्होंने वेतनमान के परिपेक्ष में कहा कि पुलिस महानिदेशक पुलिसकर्मियों के इस मुद्दे पर सरकार और शासन से लगातार वार्ता और पत्राचार कर रहे हैं तथा पुलिस कर्मियों के सभी हितों की रक्षा के लिए लगातार प्रयासरत हैं।

 उन्होंने कहा कि कुछ पुलिसकर्मियों में इस मुद्दे को लेकर असमंजस की स्थिति हो सकती है जिसका लाभ कुछ नकारात्मक सोच वाले मौकापरस्त लोग उठा सकते हैं लेकिन हम सभी को अपने अनुशासन में रहते हुए ऐसे लोगों की सोच को नाकाम करना है। आईजी संजय गुंज्याल ने सभी पुलिसकर्मियों को भरोसा दिलाया कि खुद पुलिस महानिदेशक और पुलिस मुख्यालय के सभी वरिष्ठ अधिकारी अपने पुलिसकर्मियों के हित संरक्षण करने के लिए हमेशा की तरह इस बार भी पूरी तरह गंभीर और प्रयासरत हैं। उम्मीद है जल्दी ही इस बारे में अच्छी खबर सुनाई देगी। क्योंकि खुद मुख्यमंत्री भी कुंभ और उसके बाद कोरोना काल में पुलिस कर्मियों द्वारा किए जा रहे अनुकरणीय सेवा कार्यों से बहुत प्रभावित हैं । उन्होंने अनुशासन को उत्तराखंड पुलिस की विशेषता बताते हुए सभी कर्मचारियों से इस बारे में कोई भी चिंता नहीं करने और धैर्य तथा अनुशासन बनाए रखने का अपील की है।

 

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *