ज्योतिर्पीठ पर शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती महाराज के आसीन होने के 50 वर्ष पूर्ण होने पर स्वर्ण जयंती महामहोत्सव, देशभर में 50 जगह होंगे कार्यक्रम

हरिद्वार / सुमित यशकल्याण

हरिद्वार। शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती जी को ज्योतिरमठ पीठ के शंकराचार्य बनने के 50 वर्ष पूरे होने जा रहे हैं। जिसको लेकर मठ द्वारा स्वर्ण ज्योति महामहोत्सव मनाया जा रहा है । आज हरिद्वार के कनखल शंकराचार्य मठ में स्वर्ण ज्योति महोत्सव को लेकर संतों की बैठक आयोजित की गई, शंकराचार्य जी के शिष्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद के सानिध्य में हुई इस बैठक में गंगोत्री, यमुनोत्री और हरिद्वार के साधु-संतों एवं तीर्थ पुरोहितों ने भाग लिया,

इस मौके पर स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद द्वारा बताया गया कि गुरु जी के ज्योतिष पीठ के शंकराचार्य बनने के 50 वर्ष पूरे होने जा रहे हैं, जिसको लेकर पीठ द्वारा स्वर्ण ज्योति महामहोत्सव मनाया जा रहा है सभी शिष्यों और अनुयायियों की इच्छा थी कि यह कार्यक्रम उनके यहां पर संपन्न हो, जिसको देखते हुए यह तय हुआ है कि देश भर में अगले 2 वर्षों तक 50 कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। प्रत्येक माह की शुक्ल पक्ष और कृष्ण पक्ष की द्वादशी के दिन यह कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे, आने वाली 10 जनवरी को कनखल स्थित शंकराचार्य मठ में भव्य कार्यक्रम आयोजित होने जा रहा है , जिसमें सनातन धर्म पर चर्चा की जाएगी और गुरुजी का सनातन धर्म में योगदान पर भी चर्चा होगी, प्रदेश के अलग अलग स्थानों सहित देशभर के 50 जगह यह कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। 2 वर्ष के अंत में 50 वां कार्यक्रम विशाल रूप से आयोजित किया जाएगा, जिसको लेकर आज संतों की बैठक की गई है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *