प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दलित मित्र- तेलूराम प्रधान

हरिद्वार / सुमित यशकल्याण

हरिद्वार/ केन्द्रीय मंत्री समाजिक न्याय एवं अधिकारिता थावरचन्द गहलौत द्वारा की गई घोषणा कि अनुसूचित जाति के छात्रो की छात्रवृति को प्रधानमंत्री द्वारा 1100 करोड से 6000 करोड रूपये कर दी गई है। जिसके उपलक्ष में विधायक देशराज कर्णवाल व अनुसूचित मौर्च के जिलाध्यक्ष तेलूराम प्रधान द्वारा संयुक्त रूप से
प्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि अपने देश के सभी दलित छात्र एवं छात्राओं को बधाई देना चाहता हूं एवं देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री भारत सरकार थावर चंद गहलोत को बहुत-बहुत आभार एवं धन्यवाद प्रकट करते हैं। उनके द्वारा अनुसूचित जाति, जनजाति, पिछड़ा वर्ग, दिव्यांगजन व आर्थिक रूप से पिछड़े सामान्य वर्ग के छात्रों को मिलने वाली छात्रवृत्ति को 1100 करोड रुपए से बढ़ाकर 6000 करोड रुपए करने का अति प्रशंसनीय कार्य किया गया है।
यह हमारे देश का सौभाग्य है कि श्री नरेंद्र मोदी जैसे कर्तव्यनिष्ठ एवं कार्य कुशल व्यक्ति के हाथों में देश का नेतृत्व है जिन्होंने देश के सर्व समाज को मुख्यधारा में सम्मिलित करने का भरसक प्रयास किया है। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावर चंद गहलोत का बहुत-बहुत धन्यवाद कि उन्होंने ना केवल सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्रालय को जीवंत बनाया बल्कि समाज हित के कार्यों के नए कीर्तिमान स्थापित किए। इस योजना के अंतर्गत अनुसूचित जाति, जनजाति, पिछड़े वर्ग के अथवा दिव्यांग और सामान्य वर्ग के गरीब छात्रों के लिए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति में व्यापक परिवर्तन करते हुए भारत सरकार ने अगले 5 साल 2020- 21 से 2025- 26 के लिए कुल निवेश को बढ़ाकर 59 हजार. 048 रुपए कर दिया है।


अनुसूचित जाति- जनजाति एवं अन्य पिछड़ा वर्ग के सशक्तिकरण के लिए सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय द्वारा कक्षा 9 और 10 में अध्ययनरत छात्रों के लिए मैट्रिक पूर्व छात्रवृत्ति की दरों में 50% की वृद्धि की गई है और बजट को बढ़ाकर 700 करोड़ कर दिया गया है जिसमें केंद्र तथा राज्य के मध्य 60:40 का अनुपात रखा गया है।
अनुसूचित जाति के छात्रों के लिए मैट्रिकोत्तर छात्रवृत्ति को 1800 करोड़ से बढ़ाकर 3250 करोड़ रुपए कर दिया गया है। इसके अंतर्गत कुल 60 लाख बच्चों को लाभ मिला है।
अनुसूचित जाति के छात्रों के लिए उत्कृष्ट शिक्षा स्कीम के अंतर्गत चयनित 220 उत्कृष्ट संस्थाओं के प्रतिभावान अनुसूचित छात्रों के अध्ययन, रहने और खाने तथा कंप्यूटर लैपटॉप और अन्य सामग्रियों के छात्रवृत्ति के अनुदान को बढ़ाकर 164.39 करोड़ कर दिया गया है।
अनुसूचित जाति के छात्रों एवं छात्राओं के लिए मास्टर स्तर के पाठ्यक्रमों एवं पीएचडी के लिए मिलने वाले अनुदान में लगभग 177% की वृद्धि हुई है और बजट लगभग 209 दशमलव 5 करोड रुपए कर दिया गया है।
आज पूरा विश्व कोविड-19 महामारी के कारण कठिन दौर से गुजर रहा है जिसका प्रभाव भारत पर भी गंभीर रूप से पड़ा है जिसमें सबसे ज्यादा प्रभावित देश का सीमांत समूह हुआ है पर इस कठिन समय में भी माननीय प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में मंत्रालय लगन पूर्वक कार्य कर अपनी सभी योजनाओं का लाभ इस जरूरत के समय में मिले इसके लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है।
मैं पुनः दलित समाज के छात्र-छात्राओं की ओर से विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र के यशस्वी एवं दलित मित्र प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी जी एवं केंद्रीय मंत्री माननीय थावर चंद गहलोत जी का हृदय की गहराइयों से हार्दिक आभार एवं धन्यवाद प्रकट करता हूं। इस मौके पर प्रैस वार्ता में प्रमुख रूप से जिला महामंत्री संजय सिह, बहादराबाद मण्डल अध्यक्ष एड0 मनोज प्रालिया, रजत सिंहदूरीया, सचिन तेशवर, जितेंद्र सिंह आदि पार्टी के पदाधिकारी गण मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *