ओली ने फिर दिया विवादित बयान, भारत के क्षेत्र को बताया अपना, प्रैस रेवायू।

Haridwar/ Tushar Gupta

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने देश में जारी राजनीतिकि अस्थिरता के बीच एक बार फिर से भारत के साथ सीमा विवाद का मुद्दा उठाया है जिसे लेकर पिछले साल दोनों देशों के संबंधों में खटास आ गई थी. अख़बार इंडियन एक्सप्रेस की एक ख़बर के मुताबिक़ नेपाली प्रधानमंत्री ने रविवार को कहा कि उनका देश नेपाल-भारत और चीन (तिब्बत) की सीमा पर स्थित 370 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में स्थित कालापानी लिम्पियाधुरा और लिपुलेक क्षेत्र को वापस लेने के लिए प्रतिबद्ध है.

ओली ने रविवार को नेपाली संसद के ऊपरी सदन में कहा कि ये मुद्दा विदेश मंत्री प्रदीप ज्ञावली की 14 जनवरी से होनेवाली भारत यात्रा में उठाया जाएगा.उन्होंने कहा कि “पिछले 58 सालों से भारत के कब्ज़े में रहा ये इलाक़ा नेपाल का है. इससे पहले के 146 सालों में ये इलाक़ा नेपाल के कब्ज़े में था.”


ओली ने साथ ही कहा,”कुछ लोग नेपाल-भारत के संबंधों में गिरावट के लिए मुझे दोषी ठहराते हैं. पर क्या अगर कुछ मुद्दे हैं तो मैं अपने होंठ सील लूँ?”.

ओली ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि दोनों देशों के बीच सभी लंबित मुद्दे बातचीत से हल हो पाएँगे और वे चाहते हैं कि ये रिश्ता नई ऊँचाई तक पहुँचे, और चीज़ें इसी दिशा में आगे बढ़ रही हैं.लिपुलेख और लिम्पियाधुरा कालापानी को नेपाल ने अपने नक़्शे में शामिल किया
भारत से कालापानी विवाद पर नेपाली पीएम ओली बोले- ‘एक इंच भी ज़मीन नहीं मिलेगी’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *