कुंभ मेले के आयोजन को लेकर कोविड-19 की गाइडलाइन का ध्यान रखते हुए युद्ध स्तर पर तैयारी करे राज्य सरकार -संजय चोपड़ा

हरिद्वार / सुमित यशकल्याण

हरिद्वार। कोरोना वायरस की वजह से धर्मनगरी हरिद्वार का व्यापार पूर्ण रूप से चौपट हो चुका है। पहले कोरोना वायरस, फिर चारधाम यात्रा को स्थगित किया जाना, कांवड़ मेले को पूर्ण रूप से रोका जाना, इन सब के बाद हरिद्वार के व्यापारियों को कुंभ मेला 2021 से बहुत सी आशाएं है, सरकार से एक बार फिर कुंभ मेला 2021 के आयोजन को तीर्थ यात्रियों के लिए खोले जाने की मांग करते पूर्व कृषि उत्पादन मंडी समिति अध्यक्ष, वरिष्ठ व्यापारी नेता संजय चोपड़ा की अगुवाई में गोविंद भवन स्थित कार्यलय में व्यापारी संगठनों के प्रतिनिधियों ने बैठक की।

इस अवसर पर पूर्व कृषि उत्पादन मंडी समिति अध्यक्ष, वरिष्ठ व्यापारी नेता संजय चोपड़ा ने कहा 2021 के कुंभ मेले के आयोजन के लिए सरकार को बड़े कदम उठाने चाहिए कोरोना के बचाव के संसाधनों व नियम शर्तों के साथ धर्मनगरी हरिद्वार में कुंभ मेले के आयोजन की तैयारियां युद्ध स्तर पर की जानी चाहिए। उन्होंने कहा वर्ष 2020 में हरिद्वार के व्यापारियों पर कोरोना वायरस की वजह से कई धर्म संकटों से गुजर रहे हैं आज तीर्थ नगरी हरिद्वार का व्यापार पूर्ण तरीके से चौपट हो गया है, पहले कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन, फिर उत्तराखंड चारधाम यात्रा स्थगित किया जाना, उसके बाद कांवड़ मेले को रोके जाना, इन सभी विषयो के दृष्टिगत हरिद्वार का व्यापार एकदम स्थगित पड़ा है। तीर्थ नगरी के सभी व्यापारियों की और से राज्य सरकार से मांग है कि कुंभ मेला 2021 का आयोजन जगन नाथ धाम यात्रा, अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन, वैष्णो देवी यात्रा की तर्ज पर महाकुंभ मेले के स्नान की तैयारियां बड़े पैमाने पर उचित प्रबंधनो के साथ किया जाना न्यायसंगत होगा।

व्यापारी संगठनों के प्रतिनिधियों में राजेश खुराना, आर एस रतूड़ी, संजय भारद्वाज, अजय गुप्ता, संजय बंसल, ओमप्रकाश भाटिया, मनीष शर्मा, मोहनलाल रावत, दिनेश कोठियाल, हितेश राणा, रवि अरोड़ा, उदय निहालचंद, नानक चंद आदि प्रमुख रूप से शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *