वेव सीरीज रामयुग के विरुद्ध न्यायालय में वाद दायर, जानिये

सुमित यशकल्याण


हरिद्वार, श्री अखंड परशुराम अखाड़ा के संस्थापक अध्यक्ष पंडित अधीर कौशिक पुत्र श्री कामेश्वर प्रसाद निवासी निकुंज विहार कॉलोनी लाल मंदिर रोड ज्वालापुर हरिद्वार ने वेव सीरीज रामयुग के निर्माता, निर्देशक व कलाकार के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराने हेतु वाद किया है । विदित हो वर्तमान समय में देश में कोरोना कर्फ़्यू चल रहा है, जिसकारण देश के सिनेमा घर बंद चल रहे हैं ऐसे में फिल्म उद्धयोग वेव पोर्टल पर फिल्में रिलीज कर रहा है विपक्षीगण द्वारा सनातन धर्म के पवित्र ग्रंथ रामायण का गलत चित्रण किया गया है, वादी के अधिवक्ता अरविंद श्रीवास्तव ने बताया कि वादी ने रामयुग सीरीज के निर्माता, निर्देशक व कलाकारों सहित 26 व्यक्तियों के विरुद्ध न्यायालय द्वारा रिपोर्ट दर्ज कराने के आदेश कराने हेतु न्यायालय में प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किया है जिसमे वादी अधीर कौशिक ने विपक्षी गण कुणाल कोहली, नरेंद्र कोहली, दिगनाथ मनचले, अक्षय डोगरा, एस्वरीय ओझा, कबीर दुहान सिंह, विवान भटेना, नवदीप पल्लापोलु , अनीश जॉन कोककेन, शिशिर मोहन शर्मा, जतिन सियाल, श्वेता गुलाटी, सुपर्णा मारवाह, ममता वर्मा, टिस्का चोपड़ा, दलीप ताहिल, अनूप सोनी, विक्रम सिंह चौहान, हेमंत कुमार पांडे, अरुण सिंह, रवि झंकाल, शान ग्रोवर, अमित मदन गौड, टीना सिंह, दानिश, अख्तर पर आरोप लगाते हुए कहा है कि विपक्षीगण उपरोक्त फिल्म उद्योग आये दिन ऐसी-ऐसी फिल्मों के मध्यम से हिन्दू धर्म की मान्यतायों के विरुद्ध फिल्मों का निर्माण कर हिन्दू धर्म मे आस्था रखने वाले समस्त हिन्दुओ की भावनाओ को ठेस पहुचाने का कार्य करते रहते है । अब विपक्षीगण ने रामयुग नामक फिल्म का निर्माण किया है, जो एम0 एक्स0 प्लेयर पर रिलीज की गई है प्रथम एपिसोड मे ही लक्ष्मण, परूषराम व श्री राम का संवाद भृमित प्रकार से प्रदर्शित कर सनातन धर्म के आराध्य श्री राम , माता सीता व भगवान परशुराम का अपमान किया गया है, तथा सनातन धर्म के पवित्र ग्रंथ रामायण की भृमित व्याख्या कर रामायण का भी अपमान कर सनातन धर्म की धार्मिक भावनाओं का अपमान किया गया है, जिससे प्रार्थी कि भावनाये बेहद आहात हुई है तथा यदि उक्त फिल्म का प्रकाशन हो जाता है तो समाज का माहोल खराब होने का पूर्ण अंदेशा है ।

ऐसी स्थिति विपक्षीगण द्वारा उपरोक्त रामयुग नमक फिल्म के माध्यम से हिन्दू धर्म मे आस्था व विश्वास रखने वाले करोड़ो भारतवासियों की भावनाओ पर गंभीर घात किया है लिहाजा उपरोक्त फिल्म का प्रकाशन मे रोक लगते हुए विपक्षिगण के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत किया जाना आवश्यक एवं प्रार्थनीय है । वादी ने उपरोक्त घटना के संबंध मे दिनांक 10.05.2021 को थाना प्रभारी महोदय थाना ज्वालापुर के समक्ष रजिस्टर्ड डाक के मध्यम से प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किया जिसपर आज तक थाना ज्वालापुर पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही अमल में नही लाई गई । जिसके बाद वादी अधीर कौशिक ने ने रजिस्ट्रर्ड पोस्ट के मध्यम से श्रीमान वरिष्ठ पुलिस महोदय हरिद्वार के समक्ष प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किया जिसपर आज तक कोई कार्यवाही आलम मे नही लायी गयी है जिसकारण वादी न्यायालय के समक्ष विपक्षी गण के विरुद्ध कोतवाली ज्वालापुर में रिपोर्ट दर्ज करवाने हेतु प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किया है ।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *