प्रेस क्लब हरिद्वार ने की हिंदी पत्रकारिता दिवस पर ऑनलाइन संगोष्ठी , कोरोना संकट काल में मीडिया ने बखूबी निभाई अपनी भूमिका- आचार्य बालकृष्ण

सुमित यशकल्याण

मीडिया कठिन दौर से गुजर रहा है- राम बहादुर राय हरिद्वार


हरिद्वार। आज हिंदी पत्रकारिता दिवस के अवसर प्रेस क्लब हरिद्वार द्वारा ऑनलाइन विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया जिसका विषय था” कोरोनाकाल में मीडिया की भूमिका”
इस अवसर पर मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए देश के ख्याति प्राप्त वरिष्ठ पत्रकार और इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र के अध्यक्ष राम बहादुर राय ने कहा कि कोरोना काल में मीडिया को बहुत ही कठिन दौर से गुजरना पड़ रहा है ऐसे में मीडिया की जिम्मेदारी और अधिक बढ़ जाती है पत्रकारों के लिए कठिन परीक्षा का समय है
उन्होंने कहा कि मीडिया को सच्चाई को उजागर करना है ना सरकार के पक्ष में और ना ही हमें सरकार के विपक्ष में भूमिका निभानी है बल्कि हमें आम जरूरतमंद व्यक्ति और संक्रमण से पीड़ित मनुष्य के बारे में सोचना है जिसे मीडिया की बेहद जरूरत है ताकि उसकी पीड़ा को सबके सामने उजागर किया जा सके और उसकी मदद हो सके उन्होंने कहा कि इस नाजुक दौर में मनगढ़ंत और अफवाहों से मीडिया को दूर रहना चाहिए।


मुख्य अतिथि के रूप में अपने विचार रखते हुए पतंजलि योगपीठ के महासचिव विख्यात आयुर्वेदाचार्य आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि समाज को जगाने का सबसे बड़ा स्तंभ मीडिया है जो समाज के सामने सच्चाई को लाता है चाहे देश की उन्नति हो या आम आदमी की पीड़ा मीडिया ने हमेशा उसे उजागर किया है उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के इस संकटकालीन दौर में मीडिया ने अपनी जिम्मेदारी को बखूबी निभाया है और कई विसंगतियों को उजागर किया है उन्होंने कहा कि समाज और राष्ट्र निर्माण में मीडिया के योगदान को नहीं भुलाया जा सकता है हरिद्वार की पत्रकारिता की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि हरिद्वार के पत्रकारों ने समाज के कई पहलुओं को लेकर अहम भूमिका निभाई है भारतीय पत्रकारिता का इतिहास गरिमामय है साथ ही उन्होंने कहा कि हमें विध्वंसकारी शक्तियों से बचना चाहिए


विशिष्ट अतिथि के रुप में बोलते हुए देश के वरिष्ठ पत्रकार और जी हिंदुस्तान न्यूज़ चैनल के मुख्य संपादक शमशेर सिंह ने कहा कि कोरोना काल में लोग मीडिया से बहुत उम्मीद करते हैं कि मीडिया विपरीत परिस्थितियों के बावजूद उन तक सही और सच्ची खबरें पहुंचाता रहें पत्रकारों के लिए यह बेहद संकट का समय है
उन्होंने कहा कि कोरोना के संकट काल में अपनी भूमिका को निष्पक्ष और निर्भीकता से निभाते हुए हमने अपने कई साथी खोए , सिंह ने कहा कि यह मीडिया के लिए अपनी पीठ थपथपाने वाली बात है कि इन कठिन परिस्थितियों का सामना करने के बावजूद भी ना तो खबरों की रफ्तार में कोई कमी आई और ना खबरों की धार में कोई कमी आई
उन्होंने कहा कि आज पत्रकारों के सामने दो गंभीर चुनौतियां हैं और उन्हें दो मोर्चों पर एक साथ लड़ना पड़ रहा है एक मोर्चा अपने पत्रकारिता के फर्ज को निभाते हुए लोगों को सही खबरें पहुंचाने का और दूसरा अपने परिवार के प्रति जिम्मेदारी निभाने का, इन दोनों मोर्चों के बीच तालमेल बिठाकर हमें अपने रास्ते पर चलने का बेहद चुनौतीपूर्ण कार्य निष्पक्ष ढंग से भी निभाना है इस तरह पत्रकार आज कोरोना के संकटकाल में दो जंग एक साथ लड़ रहा है उन्होंने कहा कि यह वक्त भी निकल जाएगा हमें ऐसी उम्मीद है और हम चुनौतियों का सामना करने में कामयाब होंगे
ऑनलाइन गोष्ठी की शुरुआत करते हुए प्रेस क्लब के अध्यक्ष राजेंद्र नाथ गोस्वामी ने कोरोना काल में मीडिया की भूमिका के संबंध में प्रकाश डाला और अतिथियों का परिचय दिया गोष्ठी का संचालन करते हुए प्रेस क्लब के महामंत्री राजकुमार ने कहा कि इस संकट काल में प्रेस क्लब ने हिंदी पत्रकारिता दिवस के अवसर पर विगत वर्ष की भांति इस वर्ष भी ऑनलाइन गोष्ठी का आयोजन कर पत्रकारिता के क्षेत्र में अपनी भूमिका को रेखांकित किया है


इस अवसर पर प्रेस क्लब के वरिष्ठ सदस्य और वरिष्ठ पत्रकार कौशल सिखौला, गोपाल सिंह रावत , वरिष्ठ पत्रकार ,रमेश खन्ना, बृजेंद्र हर्ष ,डॉ रजनी कांत शुक्ला आदेश त्यागी, सुनील पांडे ,राजेश शर्मा, संजय आर्य अविक्षित रमन ,दीपक नौटियाल, धर्मेंद्र चौधरी, प्रवीण झा ,देवेंद्र शर्मा, अनूप कुमार, सुनील डोभाल ,ललित नाथ ,सुभाष कपिल, बाल कृष्ण शास्त्री ,रामचंद्र कनौजिया श्रवण झा, प्रेस क्लब के वरिष्ठ उपाध्यक्ष कुशल पाल सिंह चौहान, कोषाध्यक्ष तनुज वालिया,वरिष्ठ सचिव राहुल वर्मा , समारोह सचिव त्रिलोक चंद्र भट्ट कनिष्ठ सचिव नवीन चौहान ,प्रचार सचिव शिवांग अग्रवाल ,मेहताब आलम मुकेश वर्मा ,डॉक्टर शिवा अग्रवाल, हिमांशु द्विवेदी, अमित कुमार गुप्ता, विकास चौहान ,रूपेश वालिया, ,डॉ राधिका नागरथ, कुमार दुष्यंत, अवधेश शिवपुरी, अमित कुमार शर्मा , , संजीव शर्मा मयूर सैनी, प्रशांत शर्मा, संदीप रावत ,लव शर्मा, संजीव शर्मा ,नरेश शैली ,शैलेंद्र सिंह, आदि ने अपने विचार रखे

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *