कोरोना काल मे निरंजनी अखाड़े ने फिर खोला सेवा का दरबार, प्रतिदिन बाटें जाएंगे 1000 भोजन के पैकेट

सुमित यशकल्याण


हरिद्वार। कोरोना काल में परम दानवीर बनकर मां मनसा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष और श्री निरंजनी अखाड़े के सचिव श्री महंत रवींद्र पुरी महाराज ने एक बार फिर कोरोना कर्फ्यू में लोगों की समस्याओं को देखते हुए सेवा का दरबार शुरू कर दिया है।
निरंजनी अखाड़े के चरण पादुका मंदिर परिसर में शनिवार से उन्होंने गरीब लोगों की मदद के लिए भंडारा शुरू किया है। जिसमें प्रतिदिन 1000 लोगों के लिए भोजन के पैकेट बनाकर उपलब्ध कराए जाएंगे।
मानव सेवा के इस बड़े प्रकल्प का शुभारंभ शनिवार की दोपहर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने लोगों को भोजन वितरित करके किया।


इस दौरान मदन कौशिक ने कहा कि श्री महंत रवींद्र पुरी महाराज मानव सेवा की परंपरा के बड़े संवाहक हैं। चाहे पिछले साल कोरोना काल में लॉकडाउन की स्थिति हो या फिर मौजूदा समय। उन्होंने अखाड़े और मनसा देवी ट्रस्ट सहित अपने सभी प्रकल्प से दिल खोलकर लोगों की मदद की है। चाहे सरकार को आर्थिक मदद उपलब्ध कराने का मामला हो या फिर राशन वितरण या भोजन उपलब्ध कराने सहित लोगों की अन्य जरूरतों की बात हो श्री महंत रवींद्र पुरी महाराज ने हमेशा बढ़-चढ़कर मानव सेवा की है। उन्होंने सभी सक्षम लोगों से मौजूदा समय में जरूरतमंदों की मदद के लिए आगे आने की अपील की। सरकार की ओर से कोरोना और उसके कारण उत्पन्न हो रही परिस्थितियों से निपटने के लिए किए जा रहे प्रयासों को समुचित बताते हुए उन्होंने कहा कि सरकार हर स्थिति से निपटने के लिए बेहतर काम कर रही है।
श्री महंत रवींद्र पुरी महाराज ने कहा कि आज से शुरू हुए भंडारे में प्रतिदिन 1000 लोगों के खाने की व्यवस्था की जाएगी और कोरोना कर्फ्यू जारी रहने तक यह भंडारा जारी रहेगा।
उन्होंने अन्य संतों और सभी सक्षम लोगों से संकट की इस घड़ी में लोगों की मदद के लिए आगे आने का आह्वान किया। इस दौरान अखाड़ा से जुड़े कई अन्य संत भी मौजूद रहे।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *