केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने बाबा रामदेव के बयान पर जताई नाराजगी, पत्र लिखकर दी नसीहत, जानिए

सुमित यशकल्याण

हरिद्वार। योग गुरु बाबा रामदेव एलोपैथिक चिकित्सा पर विवादित बयान देकर चारों तरफ से घिरते नजर आ रहे हैं। बाबा रामदेव का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था। जिसमें रामदेव अपने साधकों के सामने एलोपैथिक चिकित्सा पर सवाल खड़े कर रहे थे, उसके बाद देशभर में बाबा का विरोध डॉक्टरों ने करना शुरू कर दिया था आई एम ए के डॉक्टरों ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन से मिलकर बाबा रामदेव पर कार्रवाई करने की मांग की थी, जिसके बाद बाबा ने बैकफुट पर आकर अपना स्पष्टीकरण भी दिया था, लेकिन उसके बाद भी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने बाबा के बयान पर नाराजगी व्यक्त करते हुए बाबा को एक नसीहत भरा पत्र भेजा है, जिसमें एलोपैथिक चिकित्सा पद्धति का योगदान और कोरोनावायरस के समय डॉक्टरों द्वारा की जा रही सेवा का भी जिक्र करते हुए बाबा के स्पष्टीकरण को नाकाफी बताया है।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *