आईएमए हरिद्वार ने मनाया काला दिवस,जानिये कारण

सुमित यशकल्याण

हरिद्वार।कोरोना जैसी महामारी व मारा मारी के दौरान बाबा रामदेव द्वारा IMA,एलोपैथी,एलोपैथिक चिकित्सकों व एलोपैथिक दवाईयों के विरुद्ध दिए गए अत्यंत घृणित, ओछे, घमंड से भरे, अपमानजनक व तर्कहीन बयानों के विरोध में आज मंगलवार 1 जून 2021 को  आईएमए हरिद्वार की शाखा ने अपनी बांहों में काली पट्टी बांधकर कार्य किया जिसे काले दिवस के रूप में याद किया जाएगा।बाबा रामदेव के द्वारा दिये गए बयान ;-
बयान1:   एलोपैथी एक स्टुपिड व दिवालिया साइंस है।


बयान2: कोरोना में मरीजों की मौत एलोपैथी डॉक्टर्स व दवाइयों के कारण हुई है।


बयान3:   वैक्सीन की 2 डोज़ लगने के बाद भी 1000 से ज्यादा डॉक्टर कोरोना से ड्यूटी करते मर गए। ये खुद को नहीं बचा सके तो हमें क्या बचाएंगे।
बयान 4:  किसी के बाप में हिम्मत नहीं है कि मुझे गिरफ्तार कर सके।
 
रात दिन की मेहनत समर्पण और सेवा भाव से किये कोविड-19 के उपचार के कार्यों में दिन रात का चैन और आराम खोने के बाद, अपने बहुत से साथियों को खोने के बाद, बहुत से साथियों के परिवारजनों की असमय मृत्यु के बावजूद, इस तरह की बयानबाजी मृत चिकित्सकों का अपमान है हमे अस्वीकार्य है और हम सभी इसकी कड़ी भर्त्सना करते है।

बाबा रामदेव के खिलाफ काला दिवस मनाने वालों में  डॉ विपिन मेहरा, डॉ नीता मेहरा, डॉ आरके सिंघल, डॉ कैलाश पांडे, डॉ प्रेम लूथरा, डॉ अनु लूथरा, डॉ विपिन प्रेमी, डॉ राम शर्मा, डॉ अंजुल श्रीमाली, डॉ विजय वर्मा, डॉ मुकेश मिश्रा, डॉ जसप्रीत सिंह, डॉ। मनप्रीत कौर, डॉ तरुण गुप्ता, डॉ सीमा गुप्ता, डॉ गरिमा सिंह, डॉ दिनेश सिंह, डॉ यतींद्र नागयान, डॉ नीता नाग्यान, डॉ सिद्धार्थ त्रिवेदी, डॉ पी सी मालशे, डॉ प्रदीप कुमार, डॉ संध्या शर्मा और डॉ संदीप शर्मा, डॉ सतीश चंद्रा, डॉ एस के मिश्रा, डॉ राहुल आहर, डॉ नेहा शर्मा एकत्रित हुए                                                                                                  

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *