हरिद्वार भ्रमण पर आये शमशुद्दीन राइन का कार्यकर्ताओं ने किया स्वागत,
उत्तराखण्ड में 2022 में बनेगी बसपा की सरकार –शमशुद्दीन राइन

हरिद्वार ब्यूरो

हरिद्वार। उत्तराखंड में बसपा जनता की पहली पसंद बनती जा रही है क्योंकि एक बार मै एक बार तू के खेल से जनता भाजपा व कांग्रेस से त्रस्त है। इसलिए जनता के आशीर्वाद से 2022 में उत्तराखंड में बसपा की सरकार बनेगी। ये उदगार बसपा के उत्तराखंड प्रभारी शमशुद्दीन राइन ने स्वागत के दौरान पत्रकारों से बात करते हुए व्यक्त किये। रविवार को हरिद्वार पहुंचे शमशुद्दीन राइन का कार्यकर्ताओं ने जगह जगह रोककर फूल मालाओ से स्वागत किया। हरिद्वार से रुड़की लक्सर, जगजीतपुर, शिवालिक नगर होते हुए प्रदेश कार्यालय पहुंचे। उत्तराखंड प्रभारी के काफिले में भारी नीला सैलाब देखने को मिला। उनके साथ उत्तराखंड के प्रदेश अध्यक्ष नरेश गौतम भी साथ साथ चल रहें थे।

प्रभारी राइन ने कहा कि उत्तराखंड की जनता सांपनाथ और नागनाथ (भाजपा और कांग्रेस )से दुखी है इसलिए बसपा को तीसरे विकल्प के रूप में पसंद कर रही है। उत्तराखंड गठन से पहले 1995, 1997 में यहाँ की जनता ने बहन मायावती का शासन देखा है और उस शासन को आज भी याद करती है। उन्होंने कहा कि बसपा सभी धर्मो का आदर करती है तथा सभी को साथ लेकर चलने वाली पार्टी है। राइन ने अपने स्वागत से गदगद होकर कार्यकर्ताओं का आभार व्यक्त किया तथा कहा कि कार्यकर्ता ही बसपा की जान हैं। उन्होंने ये भी कहा कि बसपा सरकारों में कार्यकर्ताओं का सम्मान पहली प्राथमिकता होती है।

प्रदेश अध्यक्ष नरेश गौतम ने कहा कि आज बसपा में बड़ी संख्या में सभी वर्गों के लोग जुड़ रहें हैं, उन्होंने विषेशकर पिछड़े वर्ग व मुस्लिम वर्ग के लोगों का आभार व्यक्त किया कि उन्होंने बसपा में अपनी आस्था व्यक्त की है। उन्होंने कार्यकर्ताओ का आह्वान किया कि वे जनता के बीच में जाकर बसपा की नीतियों का प्रचार प्रसार करें तथा उन्हें बहन मायावती के शासन में हुए विकास कार्यों से अवगत कराये।

प्रभारी राइन व प्रदेश अध्यक्ष के काफिले के साथ चल रहें लोगों में प्रदेश उपाध्यक्ष व पूर्व विधायक हाजी शहजाद, प्रदेश महासचिव मदन लाल, प्रदेश महासचिव पंकज सैनी, कोर्डिनेटर शुभम सैनी, जुल्फकार अंसारी, चौधरी राजेंद्र सिंह, चौधरी चरण सिंह, हाजी सरवत करीम अंसारी, डॉ शमसाद, विजय पाल, आदि शामिल रहें।

स्वागत करने वालों में राजदीप मैनवाल जिला सचिव एवं विधान सभा रानीपुर, दीवान चन्द कमल, अरुण कुमार भेल, प्रदीप नौटियाल, विनय वालिया, कृष्ण कुमार, अश्विनी कुमार, अजय चौधरी, सतेन्द्र चौहान, संजय कालियान, महेश चन्द, नीरज शर्मा, रविकांत, विशेष बर्मन, अश्विनी विश्नोई, त्रिवेदी लाल शर्मा, नितिन कुमार, चौधरी जगदेव सिंह, रविन्द्र चौहान, प्रदीप बर्मन, खेमचन्द, अमन चौधरी, ज्ञानेन्द्र प्रताप मिश्रा, श्याम कश्यप, मिट्ठू बर्मन, रूपचन्द्र, संजीत कुमार, अंकित पंचम, वीरेन्द्र कालियान, कौशिन्द्र, रामसिंह आदि प्रमुख थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *