शहर किसान कांग्रेस कमेटी मसूरी ने स्कूलों की मनमानी एवं ट्रांसपोर्ट का दोगुने से ज्यादा किराया लेने के विरोध में सौंपा ज्ञापन,जानिये

देहरादून ब्यूरो


देहरादून/ मसूरी।शहर किसान कांग्रेस कमेटी मसूरी के तत्वधान में उत्तराखंड प्रदेश किसान कांग्रेस कमेटी के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं प्रदेश मीडिया प्रभारी विकास चौहान एवं शहर किसान कांग्रेस कमेटी मसूरी की शहर अध्यक्ष श्रीमती माधुरी टम्टा के नेतृत्व में एक ज्ञापन मसूरी शहर के स्कूल जो कि वर्तमान में ट्रांसपोर्ट का किराया दोगुने से ज्यादा वसूल रहे हैं या लेने के लिए अभिभावकों को मैसेज कर रहे हैं के विरोध में कलेक्ट्रेट देहरादून में एडीएम फाइनेंस बुधियाल जी को ज्ञापन सौंपा।


शहर किसान कांग्रेस कमेटी मसूरी ने ज्ञापन में कहां की करोना संकटकाल से अभी तक आम जनमानस उभरा नहीं है और जो आम जनमानस प्राइवेट कार्य या चाय का रेस्टोरेंट याद दिहड़ी मजदूरी करते हैं उनका काम अभी अधूरा चल रहा है जिनके बच्चे स्कूलों में शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं करोना संकटकाल के बाद स्कूल खुलने के उपरांत स्कूल प्रबंधक के द्वारा स्कूल प्रबंधन ने अभिभावकों को मैसेज भेजना शुरू कर दिया है कि स्कूल बस में यदि बच्चा आएगा तो ट्रांसपोर्ट का पर छात्र 2500 रुपए ₹2500 देना आवश्यक है जो मैसेज पाते ही कुछ अभिभावकों को झटका सा लगा जो अपनी गुहार लगाने के लिए देहरादून कलेक्ट्रेट में श्रीमान जिलाधिकारी महोदय के समक्ष पहुंचे जहां पर श्रीमान अपर जिलाधिकारी महोदय फाइनेंस श्री बूधियाल जी को मिलकर ज्ञापन सौंपकर समस्या से अवगत कराया गया कि कुछ अभिभावकों के आगे प्राइवेट कार्य ना चल पाने के कारण फाइनेंस की समस्या खड़ी हो गई है और स्कूल प्रबंधन के द्वारा ₹900 से बढ़ाकर सीधा ₹2500 प्रति बच्चा कर दिया गया है जिसको देने में कुछ अभिभावक असमर्थ हो रहे हैं और यदि बच्चे अपनी स्कूटी या बाइक से स्कूल जाते हैं तो बच्चे नाबालिक होने के कारण पुलिस द्वारा बच्चों की गाड़ी सीज या उनके चालान कर दिए जाते हैं और यदि बच्चा को लेकर उनके माता-पिता स्कूल छोड़ने लेने जाते हैं तो उनका प्राइवेट कार्य टूटता है और दिहाड़ी मजदूरी छूटती है ऐसी परिस्थिति को मद्देनजर अभिभावकों के आगे आर्थिक संकट गहरा रहा है और कुछ अभिभावक इस समस्या को लेकर अत्यंत परेशान हो रहे
आज श्रीमान जिलाधिकारी महोदय से मिलकर अपनी बात और अपनी समस्याओं को रखा जिस पर श्रीमान अपर जिला अधिकारी वित्त श्रीबुधीयाल जी ने कहा कि केंद्र सरकार की गाइडलाइन के अनुरूप ही सभी स्कूलों को ट्रांसपोर्ट चलाने की अनुमति दी गई है और यदि कोई स्कूल अपने मनमानी कर रहा है तो उस स्कूल को आवश्यक निर्देश जारी किए जाएंगे और 28 सीटर बस में 28 बच्चों को बैठाने की अनुमति जीओ के आधार पर दी जाएगी जिस पर करो ना गाइडलाइन के सभी नियमों का पालन करवाया जाएगा और फुल सीट पर बच्चे बैठ कर आ जा सकेंगे जिसके लिए जिलाधिकारी कार्यालय देहरादून से मसूरी के स्थानीय प्रशासन को आवश्यक निर्देश दिए जाएंगे
ज्ञापन देने वालों में मुख्य रूप से उत्तराखंड किसान कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं प्रदेश मीडिया प्रभारी विकास चौहान एवं किसान कांग्रेस की मसूरी किस शहर अध्यक्ष श्रीमती माधुरी टम्टा एवं प्रदेश सचिव सुरेश कुमार यादव एडवोकेट एवं श्री मोहन सिंह पवार एवं दीपक राणा आदि अन्य मौजूद थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *