केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन पर विधायक प्रतिनिधि प्रदीप चौधरी ने शोक व्यक्त किया,

हरिद्वार/ ब्यूरो

हरिद्वार। बहादराबाद , ज्वालापुर विधायक सुरेश राठौड़ के प्रतिनिधि प्रदीप चौधरी ने केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि रामविलास पासवान का हरिद्वार से बहुत गहरा रिश्ता रहा है उन्होंने पासवान को अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि रामविलास पासवान से हरिद्वार की यादें बहुत जुड़ी हुई हैं 1987 में हरिद्वार में लोकसभा के उपचुनाव हुए तब यह सीट आरक्षित थी कांग्रेस के सुंदरलाल 1984 में इंदिरा गांधी की हत्या के बाद उपजी सहानुभूति लहर के चलते हरिद्वार से सांसद बने परंतु बीमार होने के कारण 1987 में उनकी मृत्यु हो गई और इस सीट पर उपचुनाव हुआ रामविलास पासवान तब जनता पार्टी में थे और जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष भारत की राजनीति के दिग्गज नेता चंद्रशेखर थे पासवान ने चंद्रशेखर से हरिद्वार से उप चुनाव लड़ने की इच्छा जताई चंद्र शेखर ने उन्हें मना किया जनता पार्टी का हरिद्वार में कोई आधार नहीं है इसलिए वे हारने के लिए चुनाव ना लड़े परंतु पासवान जिद्द के पक्के थे उन्होंने कहा कि मैं हरिद्वार से चुनाव लड़ कर हरिद्वार को राष्ट्रीय नीति के नक्शे पर उभारना चाहता हूं चंद्रशेखर ने बड़े प्यार से पासवान को कहा कि उन्हें लगता है उन्हें हारने का शौक है परंतु पासवान ने ठान लिया था कि वे हरिद्वार से ही चुनाव लड़ेंगे और पासवान ने हरिद्वार से जनता पार्टी के टिकट पर अपना पर्चा भरा और चंद्रशेखर स्वयं हरिद्वार दस बारह दिन रहे और पासवान के चुनाव की बागडोर संभाली देशभर से चंद्रशेखर और पासवान के समर्थक हरिद्वार आकर जुटे और देश के कई बड़े नेता पासवान के समर्थन में जनसभा करने हरिद्वार आए  जिनमें चंद्रशेखर के अलावा  ओम प्रकाश श्रीवास्तव रामगोविंद चौधरी जैसे कई धाकड़ नेता पासवान का प्रचार करने हरिद्वार पहुंचे।कांग्रेस, भारतीय जनता पार्टी तथा अन्य पार्टियों के  स्थानीय नेताओं और कार्यकर्ताओं ने पार्टी लाइन से हटकर अपनी पार्टी छोड़कर रामविलास के चुनाव में प्रचार किया रामविलास पासवान चुनाव हार गए परंतु उनकी भाषण शैली और मिलनसार व्यक्तित्व को आज भी हरिद्वार के लोग नहीं भूले हैं हरिद्वार के दिग्गज नेता अमरीश कुमार कांग्रेस के उम्मीदवार राम सिंह  मांडेबास के पक्ष में प्रचार कर रहे थे पासवान अमरीश  कुमार  के घर  पर ही पहुंच गए और उनसे समर्थन मांगा परंतु अमरीश कुमार ने कहा कि यदि वे उन्हें समर्थन करेंगे तो वह तब भी चुनाव नहीं जीत पाएंगे और विरोधी चुनाव जीत जाएंगे ना कांग्रेस जीतेगी ना आप इसलिए मैं कांग्रेस का उम्मीदवार को समर्थन कर रहा हूं पासवान ने अमरीश की बात का बुरा नहीं माना और मुस्कुराते हुए उनके घर से वापस आए पासवान की यादें हरिद्वार के लोगों में  दिलों में आज भी ताजा है समाज से जुड़े पंडित जितेंद्र शास्त्री कहते हैं कि पासवान के चुनाव में उन्होंने उनके पक्ष में जमकर प्रचार किया था तब  भले ही वे  भाजपा के कार्यकर्ता थे और पासवान जनता पार्टी के उम्मीदवार परंतु पासवान से उनका दिली रिश्ता हो गया था पासवान का मिलनसार व्यवहार आज भी हरिद्वार के लोगों के जहन में है। भले ही पासवान आज दुनिया में नहीं रहे हो परंतु हरिद्वार के लोगों के मन में उनकी यादें हमेशा ताजा रहेंगी उनका हंसमुख चेहरा लोग नहीं भूल पाएंगे,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *