निरंजनी अखाड़े में धर्म ध्वजा के लिए मेला प्रशासन द्वारा भेजी गई लकड़ी की लंबाई पड़ी कम, अखाड़ा कर रहा है यह उपाय, देखें वीडियो

सुमित यशकल्याण

प्रयागराज से मंगाया जा रहा है विशेष कपड़ा।

हरिद्वार- धर्मनगरी हरिद्वार में होने वाले महाकुंभ 2021 का धार्मिक दृष्टि से आगाज हो चुका है। अखाड़ों में लगने वाली धर्मध्वजा की लकड़ी अखाड़ो में पहुँच चुकी है।

निरंजनी अखाड़े की धर्म ध्वजा आगामी 27 फरवरी को स्थापित की जाएगी, जिसके बाद अखाड़े में कुंभ को लेकर होने वाले मांगलिक कार्य प्रारंभ हो जाएंगे। धर्म ध्वजा स्थापित करने के लिए मेला प्रशासन द्वारा अखाड़े भेजी गई लकड़ी को अखाड़े के सचिव श्री महंत रविंद्र पुरी महाराज एवं सचिव स्वामी राम रतन गिरी महाराज द्वारा जांचा परखा गया ,उन्होंने बताया कि अखाड़े की धर्म ध्वजा की लकड़ी अखाड़ों में पहुंच चुकी है, यूं तो यह लकड़ी 100 फीट की होनी चाहिए लेकिन कुछ कमी रहने पर इसमें दूसरी लकड़ी बांधकर उसको पूरा किया जाता है, उन्होंने बताया कि सन्यासियों के अखाड़े में 52 मणिया होती हैं जिस के प्रतीक के रूप में धर्म ध्वजा में 52 बंध लगाए जाते हैं जो कि हर एक हाथ के फांसले पर लगाए जाते हैं। जिसके बाद धर्मध्वजा के सबसे ऊपर अखाड़े का प्रतीक भगवा रंग की ध्वजा चढ़ाई जाती है।

इस अवसर पर अखाड़े के सचिव राम रतन गिरी महाराज ने बताया कि 27 फरवरी को अखाड़े में धर्म ध्वजा स्थापित की जाएगी जिसका शुभ मुहूर्त सुबह 8:20 का निकाला जा चुका है, उसी के अनुसार सभी कार्य किए जाएंगे, उन्होंने बताया कि इस अवसर पर विशेष तौर पर एक बैंड भी आता है, साथ ही धर्मध्वजा पर लगने वाला कपड़ा विशेष तौर पर प्रयागराज से मंगाया जा रहा है जो जल्दी अखाड़े में पहुंच जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *