प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर योजना को लागू कराने को लेकर प्रदर्शन,

हरिद्वार/ सुमित यशकल्याण

*हरिद्वार। फुटपाथ के कारोबारी रेहडी पटरी, हाथ-ठेली, फेरी-टोकरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों के सामूहिक संगठन लघु व्यापार एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष संजय चोपड़ा की अगुवाई में अपने निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार चंडी चौराहे से पोस्ट ऑफिस तक अपनी तीन सूत्रीय मांगों को लेकर *ठेली रैली* निकालकर सामाजिक दूरी के साथ नगर निगम प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी लघु व्यापारियों ने अपनी तीन सूत्रीय मांगों को दोहराते हुए (हरिद्वार) नगर निगम प्रशासन पर प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर योजना के तहत रेडी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों को 10-10 हज़ार की कर्ज़ के रूप में सहायता राशि दिए जाने की प्रक्रिया पर लापरवाही का आरोप लगाया। लघु व्यापारियों ने नगर निगम प्रशासन पर यह भी आरोप लगाया कि पूर्व के प्रस्तावित तीन वेंडिंग जोन, जिनमे रेडी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यपारियो का पंजीकरण व सारी प्रक्रिया पूरी होने के बावजूद भी नगर निगम प्रशासन द्वारा दरकिनार किया जा रहा है। लघु व्यापारियों ने यह भी मांग दोहराई नगर निगम प्रशासन द्वारा फेरी समिति की बैठक बुलाकर लघु व्यापारियों की समस्या का समाधान किया जाना चाहिए था लेकिन नगर निगम प्रशासन की कार्यशैली निराशा जनक है।

इस अवसर पर लघु व्यापार एसो. के प्रांतीय अध्यक्ष संजय चोपड़ा ने कहा हरिद्वार नगर निगम क्षेत्र में फुटपाथ के कारोबारी रेडी पटरी लगाकर अपने परिवार का पालन-पोषण करने वाले लघु व्यापारियों की एक बहुत बड़ी तादात है, जिनका कारोबार कोरोना महामारी के चलते आर्थिक रूप से प्रभावित हुआ है, जिन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए भारत सरकार के संरक्षण में प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर योजना के तहत 10-10 हज़ार की कर्ज़ राशि सहायता के रूप में दिए जाने के लिए भारत सरकार द्वारा दिन-प्रतिदिन समीक्षायें की जा रही है लेकिन हरिद्वार नगर निगम प्रशासन द्वारा आत्मनिर्भर योजना में धीमी रफ्तार से रेडी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों को योजना का लाभ नही मिल पा रहा है जोकि औचित्यपूर्ण नही है। उन्होंने यह भी कहा शीघ्र ही नगर निगम प्रशासन को रेडी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों के साथ समन्वयक स्थापित कर योजना का लाभ दिए जाने के लिए जन जागरण व जागरूकता अभियान चलाने चाहिए थे। चोपड़ा ने कहा नगर निगम प्रशासन द्वारा सर्वे के आधार पर लगभग ढाई से तीन हज़ार रेडी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों का सर्वे किया जा चुका है, सर्वे के आधार पर राज्य फेरी नीति नियमावली का संरक्षण नियम अनुसार रेडी पटरी के लघु व्यापारियों को ना दिया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है।

इस अवसर पर लघु व्यापार एसो. के नगर अध्यक्ष मनोज मण्डल, महामंत्री प्रभात चौधरी, उपाध्यक्ष जयसिंह बिष्ट ने संयुक्त रूप से हरिद्वार नगर निगम प्रशासन पर रेडी पटरी के लघु व्यापारियो की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए कहा भारत सरकार द्वारा लघु व्यापारियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए युद्धस्तर पर अभियान भारत वर्ष में चलाए जा रहे है लेकिन उत्तराखंड में शासन-प्रशासन की लापरवाही की वजह से रेडी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों के लिए बनाई गई जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ नही मिल पा रहा है, उन्होंने चेतावनी दी यदि एक सप्ताह के अंदर रेडी पटरी के लघु व्यापारियों को भारत सरकार द्वारा दी जाने वाली 10-10हज़ार की कर्ज़ के रूप में सहायता राशि दिए जाने की प्रक्रिया को उचित प्रबंधन के साथ नही चलाया जाता है तो 6 सितंबर से लघु व्यापारी द्वारा धरना-प्रदर्शन नगर निगम प्रशासन के खिलाफ चलाया जाएगा।

इस मौके पर वीरेंद्र सिंह, मोहनलाल, छोटेलाल शर्मा, रमेश कुमार, रवि शर्मा, ओमप्रकाश भाटिया, धर्मपाल कश्यप, तस्लीम अहमद, भगवान दास, गौरव गुप्ता, विजय गुप्ता, मोतीराम, बालकिशन, प्रमोद जाटव, सुरेंद्र रावत, खुशीराम, सरदार दर्शन सिंह, सुमन गुप्ता, मुन्नी देवी, सुमित्रा देवी, आशा देवी, मंजू देवी, निशा अरोड़ा, बबिता बिष्ट आदि प्रमुख रूप से शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *